पटवारी भर्ती; सरकारी नियमों की अनदेखी कर रहा है राजस्व मंडल,

जयपुर। पटवारी भर्ती में अस्थायी रूप से चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज और पात्रता जांच में राजस्व मंडल अजमेर मनमानी पर उतर आया है। इस मनमानी के चलते ईडब्ल्यूएस केटेगरी के हजारों अभ्यर्थियों के सामने परेशानी खड़ी हो गई है। मंडल की ओर से ईडब्ल्यूएस केटेगरी के अभ्यर्थियों को कहा जा रहा है कि वे आवेदन की अंतिम तिथि तक बना ईडब्ल्यूएस केटेगरी का प्रमाण पत्र लेकर आएं, जबकि इस भर्ती के लिए आवेदन करते समय ऐसा कोई नियम नहीं था और ना ही विज्ञप्ति में ऐसे किसी प्रावधान का उल्लेख था, लेकिन अब मंडल के अधिकारी इस मामले में मनमानी कर रहे हैं। इससे ईडब्ल्यूएस केटेगरी के हजारों अभ्यर्थियों के सामने इस भर्ती से बाहर होने का संकट खड़ा हो गया है।
अभ्यर्थियों का कहना है कि सरकार ने हाल ही में एक आदेश जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि आरक्षित श्रेणी का लाभ लेने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि तब बना प्रमाण पत्र मान्य होगा। कार्मिक विभाग ने 20 जनवरी 2022 को परिपत्र जारी कर कहा था कि यह नियम नई भर्तियों पर लागू होगा। विभाग ने इस परिपत्र में यह भी उल्लेख किया था कि इस नियम का विज्ञप्ति में उल्लेख होना जरुरी है, लेकिन पटवारी भर्ती की विज्ञप्ति में इस तरह का कोई उल्लेख नहीं था। इसके बावजूद राजस्व मंडल के अधिकारी इसको पुरानी भर्ती में लागू कर रहे हैं। यह अभ्यर्थियों के साथ अन्याय है।
हर्ष कुमार व बसंत कुमार सहित कई अभ्यर्थियों ने कहा कि जब दो साल पहले जनवरी 2020 में इस भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए थे, तब ऐसा नियम नहीं था। इस कारण बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने बाद में ईडब्ल्यूएस केटेगरी के प्रमाण पत्र बनवाए। अभी तक हुई भर्तियों में बाद में बने प्रमाण पत्र मान्य हुए हैं। अभ्यर्थियों ने सरकार से मांग की कि राजस्व मंडल के अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिया जाए कि वे इस तरह की मनमानी नहीं करें और पुराना प्रमाण पत्र नहीं मांगे। नया प्रमाण पत्र मान्य करे। वरना यह भर्ती कोर्ट में अटक सकती है।
आज से प्रारंभ होगा 5610 पदों पर भर्ती के लिए दस्तावेज सत्यापन, 31 मार्च तक चलेगा
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से आयोजित 5610 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित पटवारी भर्ती में राजस्व मंडल अजमेर दस्तावेज सत्यापन का काम करेगा। यह कार्य 21 फरवरी से प्रारंभ होकर 31 मार्च तक चलेगा। इसमें 11339 अभ्यर्थी दस्तावेज और पात्रता जांच के लिए सूचीबद्ध हुए थे। इनमें नॉन टीएसपी के 9769 और टीएसपी के 1570 अभ्यर्थी हैं।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In जयपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

सीआईडी ने बीकानेर संभाग से तीन पाकिस्तानी जासूसो को किया गिरफ्तार

हमारा बीकानेर । सीआईडी ने बीकानेर संभाग में बड़ी कार्रवाई की है । सीआईडी ने बीकानेर संभाग स…